You might also like :

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

शनिवार, 9 मार्च 2013

"विभिन्न पशुओं के दूध में विभिन्न गुण"



 

अक्सर तो गाय और भैंस का दूध ही उपलब्ध होता है उसके गुण भी ज्यादातर लोगों को पता होते हैं। गाय, भैंस के दूध के अलावा अन्य पशुओं का दूध भी पीने योग्य होता है पर उसकी उपलब्धता न होने के कारण बहुत से लोग उन पशुओं से अनभिज्ञ रहते हैं। बकरी, ऊंटनी, भेड़ घोड़ी, गधी का दूध भी पीने योग्य होता है। उनके दूध में कई गुण होते हैं। आइये जाने  विभिन्न दूधों के गुणों के बारे में :
गाय का दूध
* गाय का दूध सर्वोत्तम गुणों वाला होता हैं। इसके दूध की तुलना माँ     के दूध के साथ की जाती है।
* गाय का दूध आयुवर्ध्दक होता है।
* यह पित नाशक होता है।
* गाय का दूध वीर्य वर्ध्दक और पुष्टकरण होता है
* गाय का दूध बुध्दि वर्ध्दक होता है।
* हृदय रोगियों, दृष्टि संबंधी रोगियों के लिए गाय का दूध लाभदायक होता है।
* कब्ज दूर करता है।
* गाय का दूध बचपन का विकास करने, यौवन को बनाए रखने और बुढ़ापे को दूर रखने में उपयोगी होता है।
* गाय का घी भी कई प्रकार के विकारों को दूर करता है।
भैंस का दूध

* भैंस का दूध आसानी से उपलब्ध होता है।
* भैंस का दूध अधिका चिकनाई युक्त होता है। इस दूध के सेवन से मोटापा बढ़ता है।
* भैंस का दूध मीठा, रसयुक्त होता है।
* भैंस का दूध भारी होता है इसलिए यह स्फूर्तिनाशक होता है।
* अनिद्रा दूर करता है। सोने से पूर्व इसे पीने से नींद अच्छी आती है।
* भैंस का दूध वीर्यवर्ध्दक और कामशक्तिवर्ध्दक होता है।
बकरी का दूध
* बकरी का दूध सुपाच्य होता है, तासीर में ठंडा होता है।
* बकरी दूध अपने आपमें एक औषधि है।
* यह कफ का नाश करता है, रक्त विकार दूर करता है।
* बकरी के दूध को उबाल कर पीना चाहिए। इसमें विशेष प्रकार की एक गंध होती है।

भेड़ का दूध
* भेड़ का दूध नमकयुक्त मिठास के लिए होता है। मधुमेह और पथरी रोग के लिए लाभप्रद है। हृदय रोगियों के लिए इसका सेवन ठीक नहीं है

ऊंटनी का दूध
* ऊंटनी का दूध हल्का और नमकीन होता है, पीने में सुपाच्य होता है। खूनी बवासीर, यकृत संबंधी और पीलिया रोग में विशेष लाभप्रद होता है। त्वचा रोग और सूजन आदि भी कम होती है।

घोड़ी का दूध
* घोड़ी का दूध बल वीर्यवर्ध्दक होता है। स्फूर्ति दायक है। श्वास रोगों में लाभप्रद है। गुण में हल्का है।



Ranchi Express Online - Largest and Oldest Portal to Jharkhand
 

13 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढ़िया ज्ञानवर्धक जानकारी... आभार

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. उटंनी का दूध मधुमेय रोगियों के लिए काफी लाभदायक होता है,
      और राजस्थन में आसानी से उटंनी का दूध व उससे निर्मित आईसक्रिम,
      चाकलेट आदि व्यंजन मिल जाते है ।

      हटाएं
  2. "विभिन्न पशुओं के दूध में विभिन्न गुण"
    बचपन में एक बार हमारे गाँव में बकरी का दूध पीया था बड़ा बदबूदार लगा फिर कभी ट्राई नहीं किया ..अब तो शहर में पैकेट का दूध लेने की पीने की आदत सी पड़ गई है बिना गुण जांचे ...आभार अच्छी पोस्ट के लिए !

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत ही लाभप्रद जानकारी दिए दूध के बारे में,आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  4. राजेंद्र भाई इसमें कुछ ही तरह के दूध उपलब्ध हैं शहरों में | भेड़ और बकरी का दूध भी कुछ खास इलाकों में ही मिल पायेगा | बाकि जहाँ तक बात रही ऊंटनी और घोड़ी का दूध वो तो शायद रेगिस्तान और पहाड़ों में ही नसीब हो लोगों को |

    बढ़िया लेख और बहुत ही लाभप्रद जानकारी |

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत ही उपयोगो और सार्थक जानकारी दिए,आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  6. दूध के बारे में लाभप्रद जानकारी।

    उत्तर देंहटाएं
  7. अरे बहुत बढ़िया और ज्ञानवर्धक आलेख.

    उत्तर देंहटाएं

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।हमारी जानकारी-आपका विचार.आपकी मार्गदर्शन की आवश्यकता है, आपकी टिप्पणियाँ उत्साहवर्धन करती है....आभार !!!